जिन्दगी एक तौफा……..

खुदा ने दुनिया बनाया प्यार का , जिसे पाँच तत्वो से सजाया ।

कुदरत ने मिटटी से रच के , एक ऐसा इंसान बनाया ।

 

रूप रंग सब अंग दिए , माँ बाप बनके उसे पढ़ाया ।

गुण, शील बलवान बना के , धैर्य से चलना सिखाया ।

 

क्रोध की अग्नि खुद को जलती , छल द्वेष अहंकार ना करना बताया ।

सच्चे मन से मिलती है भक्ति , जो इसको अपनाया ।

 

जिंदगी एक तौफा है खुदा का , जो प्यार से इसे अपनाया ।

मंजिल उसी को मिलती है , जो वक़्त के साथ लड़ते आया ।

 

खुद की बनाई किस्मत है जिंदगी , जो हार कर दुसरो को बना देती है पराया ।

जो डटे रहे अपने कर्मो पे , वही सपनो को हकीकत कर पाया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *